Follow Us:

सीएम योगी ने कोविड कमांड सेंटर का किया निरीक्षण, ओमिक्रान से लोगों को किया सचेत

 
yogi
लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को लखनऊ में कोविड-19 कमांड सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने लोगों को ओमिक्रान से भी सचेत किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कमांड सेंटर में होम आइसोलेट संक्रमितों की स्थिति के बारे में जानकारी ली। कमांड सेंटर के निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ओमिक्रान को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। कोरोना से बचने के लिए वैक्सीनेशन सबसे कारगर हथियार है। 
उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई, वे तुरंत वैक्सीन लगवाएं। सीएम योगी ने प्रदेश में आज से शुरू होने वाले बूस्टर डोज के अभियान का आगाज करने के साथ लखनऊ में लालबाग में कमांड सेंटर का निरीक्षण किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा प्रदेश में दो से ढाई लाख लोगों के कोविड टेस्ट रोज हो रहे हैं। प्रदेश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर के संक्रमण के साथ ही ओमिक्रान भी बढ़ रहा है। इसको देखते हुए सभी लोग कोरोना का टीका अवश्य लगवा लें।
सीएम योगी ने कहा यूपी में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है, लेकिन यह दूसरी लहर के मुकाबले तेज नहीं है। उन्होंने कहा कि 90 फीसदी केसों में कोई लक्षण नहीं देखने को मिल रहा। ज्यादातर मरीजों का इलाज घर में हो रहा है। बस हमें सावधानी और सतर्कता बरतने की जरुरत हैं। जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं ली हैं, उन्हें जागरुक किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि मेरी सभी से अपील है कि सभी लोग कोरोना की वैक्सीन लगवा लें। बुजुर्गों को सोमवार से बूस्टर डोज लगाई जा रही है। सभी केन्द्र पर कर्मी सजग हैं। आप लोग इसका लाभ लें और टीकाकरण कराएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो संक्रमित घर में हैं, उनसे नियमित बात की जाए और दवा व अन्य जरूरी चीजें उपलब्ध कराई जाए। शासन की नई गाइडलाइन के अनुसार जिस शहर में प्रतिदिन दो सौ से अधिक मरीज निकल रहे हों, वहां पर प्रतिदिन मरीज का हाल कमांड सेंटर से लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कमांड सेंटर की कार्यप्रणाली को देखा और संतोष जताया।
मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में रिकवरी रेट बढ़ा है। लोग तीन से पांच दिन में ठीक हो रहे हैं। इस दौरान सतर्कता और सावधानी सबसे बड़ा उपाय है। हमकों बच्चों के साथ बुजुर्गों का ध्यान रखना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने इस बार भी घरों में इलाज का इंतजाम किया गया। कोरोना वायरस की तीसरी लहर के साथ ओमिक्रान वैरिएंट भी सक्रिय हो गया है। इसको जरा भी हल्के में न लें।