Follow Us:

पंजाब के मुख्यमंत्री ने करतारपुर कॉरिडोर दोबारा खोलने के केंद्र के फैसले का स्वागत किया

 
channi
चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने करतारपुर कॉरिडोर दोबारा खोलने के केंद्र के फैसले का  स्वागत किया और कहा कि राज्य मंत्रिमंडल के सदस्य उस ‘जत्थे' का हिस्सा होंगे जो 18 नवंबर को पाकिस्तान स्थित ऐतिहासिक स्थल का दौरा करेगा। चन्नी के अलावा पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू, पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ और शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी केंद्र सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया है। करतारपुर कॉरिडोर, पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत में गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से जोड़ता है।
गुरुद्वारा दरबार साहिब वह स्थल है जहां सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपने प्राण त्यागे थे। कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल मार्च में करतारपुर साहिब की तीर्थयात्रा को निलंबित कर दिया गया था। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार ने बुधवार से करतारपुर कॉरिडोर को पुनः खोलने का निर्णय लिया है। गुरु नानक की जयंती ‘गुरु पर्व' इस साल 19 नवंबर को मनाई जाएगी। चन्नी ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से कॉरिडोर को पुनः खोलने का अनुरोध किया था।
चन्नी ने कहा, “मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं।” चन्नी ने संवाददाताओं से कहा, “पूरा मंत्रिमंडल उस पहले जत्थे का हिस्सा होगा जो 18 नवंबर को जाकर श्रद्धांजलि देगा।” चन्नी ने बाद में ट्वीट किया, “श्री गुरु नानक देव जी के 552वें प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर श्री करतारपुर साहिब को दोबारा खोलने के निर्णय का मैं गर्मजोशी से स्वागत करता हूं। इस कदम ने लाखों श्रद्धालुओं की इच्छा पूरी की है जिन्हें कोविड महामारी के कारण ‘दर्शन दीदारे' से वंचित रहना पड़ा था।”
पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट किया, “स्वागत योग्य कदम… ! अनगिनत संभावनाओं का गलियारा पुनः खुल रहा है, नानक नामलेवा लोगों के लिए अनमोल उपहार… ! महान गुरु का गलियारा सबको आशीर्वाद देने के लिए खुला रहे। सरबत दा भला।” पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को उनके निर्णय के लिए धन्यवाद दिया।