Follow Us:

देश में 50 प्रतिशत स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन वर्कर्स को नहीं लगी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज

 
देश में 50 प्रतिशत स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन वर्कर्स को नहीं लगी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज

नई दिल्ली: भारत में सोमवार को कोरोना रोधी वैक्सीन की 30 लाख डोज दी गई हैं। यह एक ही दिन में सबसे अधिक टीकाकरण का रिकॉर्ड है। हालांकि 50 प्रतिशत स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन वर्कर्स को अभी तक पहला वैक्सीन का डोज नहीं मिला है। रिपोर्ट के अनुसार, 1.5 करोड़ स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहली खुराक मिली है।61.68 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स को दूसरी खुराक भी मिल गई है। यह दिखाता है कि अनुमानित तीन करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स में से 50 प्रतिशत को पहली खुराक मिल गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 15 मार्च को 30 लाख से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीका लगाया गया जो एक दिन में सबसे अधिक है। देश में अब तक कुल 3,29,47,432 वैक्सीन खुराक की खुराकें दी जा चुकी है। मंत्रालय ने कहा कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लाभार्थियों के टीकाकरण ने 15 दिनों में 1 करोड़ का आंकड़ा छू लिया है।टीकाकरण में वृद्धि मोटे तौर पर 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के चलते है जो मंगलवार शाम तक दी गई कुल खुराक का लगभग 33 प्रतिशत है। एक या उससे अधिक बीमारियों से पीड़ित 45 से 60 वर्ष की आयु वालों को भी 21.43 लाख खुराक दी गई है।

बड़ी संख्या में लोगों तक टीका ना पहुंचने के चलते कई लोगों के दूसरे लहर में संक्रमित होने की आशंका है। टीकाकरण करना जरूरी है। इसके अलावा 30 साल की उम्र तक इस शुरू करना भी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि टीके की किसी भी तरह की कमी को और वैक्सीन को शामिल करके पूरी कर सकते हैं। साथ ही वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाकर और 8-12 सप्ताह तक कोविशिल्ड वैक्सीन की दूसरी खुराक में देरी कर भी अधिक अधिक से लोगों को वैक्सीन दी जा सकती है। भारत में कोविड-19 के एक दिन में 28,903 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,14,38,734 हो गई। इस साल एक दिन में सामने आए यह सर्वाधिक मामले हैं। आंकड़ों के अनुसार, इससे पहले 13 दिसंबर को 24 घंटे में वायरस के 30,254 नए मामले सामने आए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेटेड आंकड़ों के अनुसार, देश में वायरस से 188 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,59,044 हो गई।