Follow Us:

2024 में मोदी जी को पीएम बनाने के लिए 2022 में योगी आदित्यनाथ सीएम बनना जरूरी: अमित शाह

 
amit shah

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के चाणक्य कहे जाने वाले केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि केन्द्र में अगर वर्ष 2024 में नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है तो 2022 में एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाना होगा। मोदी जी को एक बार फिर मौका दे दीजिए। उन्होंने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश में लोक संकल्प के सारे वादे पूरे किए हैं, लेकिन अभी पांच साल का मौका और चाहिए ताकि उत्तर प्रदेश को सभी जगह पर देश में नम्बर वन पर लाया जाए। 
मोदी सरकार में गृह तथा सहकारिता विभाग के मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को यहां भारतीय जनता पार्टी के सदस्यता अभियान का शुभारंभ किया। इस मौके पर अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा काम अगर योगी आदित्यनाथ ने किया है तो वह को माफियाओं से मुक्ति दिलाने का काम किया है। लगभग 1,43,000 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की भर्ती की गई हैं और उसमें कोई भ्रष्टाचार नहीं हुआ। मेरठ में यूनिवर्सिटी होने के बावजूद वहां की बच्चियां दिल्ली में किराये के घर में रहकर पढ़ाई करती थीं। यूपी में उनकी सलामती नहीं थी। आज कोई भी लड़की स्कूटी पर रात 12 बजे भी यूपी की सड़कों पर चल सकती है, कोई डर नहीं है।
गृह मंत्री ने कहा कि भाजपा ने यूपी को बहुत आगे ले जाने का काम किया है। भाजपा ने पहली बार सिद्ध किया है कि सरकारें परिवारों के लिए नहीं गरीब से गरीब व्यक्ति के लिए होती हैं। भाजपा ने उत्तर प्रदेश को अपनी पहचान वापस दिलाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले तक उत्तर प्रदेश देश की 7वीं अर्थव्यवस्था थी, आज यूपी देश की दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बन गया है। अखिलेश बाबू (अखिलेश यादव) बेरोजगारी की दर आप 18 प्रतिशत छोड़कर गए थे, आज 4.8 प्रतिशत बेरोजगारी दर है। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले तो उत्तर प्रदेश में गुंडाराज था। माफिया और बाहुबली का सरकार में खासा दखल था, लेकिन अब ऐसा नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसा इलाज किया है कि अब तो दूरबीन से भी बाहुबली नजर नहीं आते हैं। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की बदहाल स्थिति देखकर खून खौलता था। आज उत्तर प्रदेश में कोई पलायन नहीं होता, पलायन कराने वालों का खुद पलायन हो गया है। आज यूपी में कहीं कोई बाहूबली दिखाई नहीं देता।
समाजवादी पार्टी और उसके मुखिया अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में सभी लोग काफी प्रभावित थे। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ तो हर जगह जाने के कारण खुद भी चपेट में आ गए थे, लेकिन अखिलेश जी तो कहीं पर भी नहीं दिखे। इन्होंने कहा था कि हम कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे, लेकिन बाद में डर की वजह से लगवा ली। इसके बाद भी प्रदेश में बाढ़ से हालत खराब थी तो योगी आदित्यनाथ जी ने मोर्चा संभाला था। अखिलेश जी इस समय भी गायब थे। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी यह हिसाब उत्तर प्रदेश की जनता को दीजिए कि पिछले पांच वर्ष में आप विदेश कितने दिन रहे। बीते दिनों कोरोना आया, यूपी में बाढ़ आई, आप कहां थे। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी यह हिसाब उत्तर प्रदेश की जनता को दीजिए कि पिछले पांच वर्ष में आप विदेश कितने दिन रहे। इसका हिसाब दे दीजिए।
उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के साथ ही बहुजन समाज पार्टी तथा कांग्रेस के लोगों ने शासन स्वयं के लिए, परिवार के लिए और अपनी जाति के लिए किया है, इसके अलावा किसी के लिए शासन नहीं किया है। इन लोगों ने शासन स्वयं के लिए, परिवार के लिए और अपनी जाति के लिए किया है, इसके अलावा किसी के लिए शासन नहीं किया। भाजपा ने उत्तर प्रदेश को अपनी पहचान वापस दिलाने का कार्य किया है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश को देश का सबसे प्रमुख राज्य बनने की दिशा में बहुत आगे ले जाने का कार्य किया है। भाजपा ने पहली बार सिद्ध किया है कि जो सरकार बनती है वो परिवार के लिए नहीं होती है, सरकारें सूबे के सबसे गरीब से गरीब व्यक्ति के लिए होती है। उन्होंने कहा कि सदस्यता अभियान 29 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक चलेगा। मैं सभी कार्यकर्ता से आग्रह करने आया हूं कि उत्तर प्रदेश देश के सबसे युवा प्रदेशों में से एक है। यूपी में 53 प्रतिशत आबादी युवा है, गरीबों, महिलाओं, दलितों, पिछड़ों को पार्टी के साथ जोडऩे का कार्य भाजपा करेगी। उन्होंने कहा कि आप दिवाली के दिन ‘मेरा परिवार भाजपा परिवार’ के तोरण से अपने द्वार को सजाइए और भाजपा को अपना समर्थन दीजिए।