Follow Us:

बैरागी महंत राजेंद्र दास के फेसबुक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बारे में की गई टिप्पणी पर बवाल

►महंत राजेंद्र दास टिप्पणियों को लेकर हमेशा विवाद में रहे

►कुंभ मेले में महंत राजेंद्र दास और उनके समर्थक साधुओं ने अपर कुंभ मेला अधिकारी रहे हरवीर सिंह के साथ की थी बदसलूकी

►साधु संतों और भाजपा नेताओं ने की प्रधानमंत्री पर टिप्पणी की निंदा

 
Mahant Rajendra Das

 

हरिद्वार: हरिद्वार के महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्र पूरी की अध्यक्षता वाली अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री और बैरागी महंत राजेंद्र दास के द्वारा फेसबुक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बारे में डाली गई फेक सूचना पर जबरदस्त बवाल हो गया है जिसका साधु-संतों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त विरोध किया है और जिस पर कड़ा एतराज जताया है और महंत राजेंद्र दास के खिलाफ मानहानि का दावा करने का ऐलान किया है जिससे महंत राजेंद्र दास और उनके साथ जुड़े साधु संत बचाव की मुद्रा में आ गए हैं 

         बवाल होने के बाद फेसबुक से महंत राजेंद्र दास द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बारे में की गई टिप्पणी  वापस लेनी पड़ी जिससे महंत राजेंद्र दास और उनकी कथित अखाड़ा परिषद फजीहत हो रही है महंत राजेंद्र दास हमेशा चर्चाओं में रहते हैं मैं बाहुबली महंत माने जाते हैं कुंभ मेले में उन्होंने अपनी बैरागी छावनी में अपर जिलाधिकारी हरवीर सिंह को  कामकाज के लिए बुलाया और उनके साथ बदतमीजी की और उनके कपड़े तक फाड़ डाले थे और उनके साथ हाथापाई की गई थी जिस पर जमकर बवाल हुआ था

          तब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने उनके इस कृत्य पर उनका साथ नहीं दिया था और उनकी निंदा की गई थी इस घटना से कुंभ में साधु संतों की बदनामी हुई तब अखाड़ा परिषद द्वारा उनका  इस गलत कृत्य के लिए साथ ना देने पर  वे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद से बैरागी  संप्रदाय के तीनों अखाड़ों के साथ अलग हो गए और उन्होंने अखिल भारतीय वैष्णव अखाड़ा परिषद का गठन किया और अब अपने निजी स्वार्थों के लिए वे वैष्णव अखाड़ा परिषद को भंग करके महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्र पुरी की अध्यक्षता वाले अखाड़ा परिषद में महामंत्री बन गए सबसे मजेदार बात यह है कि सबसे मजेदार बात यह है कि तब जिन साधु-संतों ने बैरागी महंत राजेंद्र दास की अपर कुंभ मेला अधिकारी रहे हरवीर सिंह के साथ बदसलूकी करने पर जमकर आलोचना की थी उन्होंने अखाड़ा परिषद के पद के लालच में महंत राजेंद्र दास को महामंत्री बना दिया और अखाड़ा परिषद को निजी स्वार्थों और पद की लालच के कारण दो फाड़ कर दिया जिससे समाज में उनकी फजीहत हो रही है

      अब महंत राजेंद्र दास ने फेसबुक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बारे में कथित टिप्पणी डालकर विवाद पैदा कर दिया और अब उनके साथ जुड़े अन्य अखाड़ा के महंत पशोपेश में फंसे हुए हैं और  बचाव की मुद्रा में है फेसबुक में महंत राजेंद्र दास ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में टिप्पणी डालते हुए कहा कि वे हमारे अखाड़े में 7 साल तक साधु बन कर रहे और आज भी नरेंद्र मोदी के खास विश्वासपात्र गृह मंत्री अमित शाह हमारे संपर्क में हैं इस तरह उन्होंने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के बारे में टिप्पणी करके उनके नाम का दुरुपयोग किया और इस टिप्पणी पर जबरदस्त बवाल मच गया और उसका जबरदस्त विरोध हुआ और खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई उनकी इस टिप्पणी पर साधु समाज से जुड़े महंत शिव शंकर गिरी, स्वामी मुक्तानंद ,स्वामी अवशेषानंद आदि ने कहा कि  प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के बारे में इस तरह की टिप्पणी करना साधु-संतों को शोभा नहीं देता जो निंदनीय है

         भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रमोद कुमार ने  कहा कि किसी साधु सन्यासी की फेसबुक पर प्रधानमंत्री के बारे में की गई कथित टिप्पणी अनुचित है और प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की छवि बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा पंडित जितेंद्र शास्त्री ने कहा कि साधु संतों को फेसबुक पर इस तरह की टिप्पणी करना शोभा नहीं देता ऐसी किसी भी टिप्पणी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा 

      उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से ऐसे साधु-संतों के बाद खिलाफ कार्रवाई की मांग की जिन्होंने पहले कुंभ मेले में अपर कुंभ मेला अधिकारी के साथ बदसलूकी की और अब भी प्रधानमंत्री के बारे में इस तरह की टिप्पणी करके उनकी छवि खराब करने में लगे हैं इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा भाजपा के नेता सोनू, शुभम ,सुशांत ,अभिनव आदि ने भी महंत राजेंद्र दास कि प्रधानमंत्री के बारे में की गई टिप्पणी पर कड़ा एतराज करते हुए उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।