Follow Us:

हरिद्वारः उत्तराखण्ड में हमारी सरकार बनी तो आपका लोक-परलोक दोनों सुधारेंगेः अरविंद केजरीवाल

 
Arvind Kejriwal

बहादराबाद (दैनिक हाक): दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले अपनी आम आदमी पार्टी के पैर जमाने की कवायद शुरू कर दी है। केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार अगर प्रदेश में बनती है तो उत्तराखंड के लोगों को दिल्ली की तर्ज पर आयोध्या के दर्शन और तीर्थ यात्रा फ्री होगी। मुस्लिम समुदाय के लिए अजमेर शरीफ और सिख समुदाय को करतारपुर साहब जाने का प्रावधान करेंगे। तीर्थ यात्रा कराएंगे।
उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव-2022 से पहले पूरा घोषणा पत्र जारी होगा। भाजपा और कांग्रेस के पिछले 20 साल में भृष्टाचार के अलावा कुछ नही किया है। दोनों पार्टियों के पास एक दूसरे का स्टिंग है। दोंनो पार्टियां उत्तराखंड को लूटने में लगी है। दोनों पार्टियों की नीयत नही की वह स्कूल और हॉस्पिटल बनाएंगे। आप की सरकार एक बार उत्तराखंड में आई तो सभी गरीब लोगों का भला होगा।
केजरीवाल ने उत्तराखंड में वोट चौलेंज दिया है। कहा कि एक बार ‘आप’ को वोट देने के बाद कोई भी वोटर किसी भी अन्य राजनैतिक पार्टी को वोट नहीं देगा। दिल्ली में सरकार बनाने में 70 फीसदी योगदान है। रोड पर खड़े नेता ऑटो चालकों को बुरा-भला बोलते है। जबकि एक ऑटो वाला सुबह से शाम तक आरटीओ और पुलिस वालों को पैसा बांटता है। तो पैसा कैसे कमाएगा। ऑटो चालक माफिया नही, नेता और पार्टियां माफिया है।
सड़को और जमीनों को बेंचकर महल खड़े कर लिए है। दिल्ली में ऑटो चालकों की इज्ज़त है। दिल्ली में उलट सुलट कानूनों को उन्होंने बदल दिया है। दिल्ली में ऑटो चालकों की किराया कमेटी के सामने ही किराया तय किया गया है। वहा किराया बढ़ाने में ऑटो चालकों की अहम भूमिका रही है। दिल्ली में ऑटो चालक उन्हें छोटा भाई मानते है। ऑटो पर लगे चार्जिंग माफ कर दिया है। फ़ेसलेस सर्विस कर दी गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समस्या चलती रहेगा वे हरिद्वार में ऑटो चालकों से अपना रिश्ता बनाने आये है। ऑटो चालकों के भाई बनने आया हूँ। आज के बाद सभी ऑटो चालकों की सारी समस्या मेरी है। उत्तराखंड में सरकार आई तो सिस्टम पूरा बदलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप की एक बार सरकार बना दो। जितने बेवजह के शासनादेश, पेच, कानून सभी बदलेंगे। मुख्यमंत्री ने ने कहा कि उन्हें तारीफ नही तो वोट दीजिए?
आरटीओ कार्यालय में किसी ऑटो चालकों को चक्कर लगाने नहीं पड़ेंगे। पूरा ऑनलाइन काम करेंगे। जिसे ऑनलाइन नही आता उसके घर सरकारी कर्मचारी खुद घर आएगा। सभी का उपचार मुफ्त होगा। दिल्ली में किसी भी नागरिक का इलाज सरकार उठा रही है। दिल्ली में फिटनेस चार्ज नही है। पांच सौ नए स्टेंट बनाये है। कोरोना काल में दिल्ली ऑटो चालकों को आर्थिक सहायता दी है। वैसे ही यहा भी सहायता देंगे। बच्चों का भविष्य बनाने की जिम्मेदारी उनकी है। बच्चे गरीबी से बाहर आएंगे। 70 साल के इतिहास में किसी नेता ने नहीं कहा कि वह स्कूल बना देंगे। 


आप की सरकार बनी तोे तीर्थ यात्रा योजना लागू करेंगेः केजरीवाल 
अयोध्या, अजमेर शरीफ व करतारपुर साहिब की यात्रा भी होगी मुफ्त 
हरिद्वार (दैनिक हाक):
 दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार ने उत्तराखण्ड के दौरे के दौरान हरिद्वार में कहा कि अगर उत्तराखण्ड में आप की सरकार बनती है तो हम दिल्ली की तर्ज पर यहां भी तीर्थ यात्रा योजना लागू करेंगे। जिसके तहत हिन्दुओं को एसी टेªन के द्वारा अयोध्या ले जाकर भगवान श्रीराम के मुफ्त दर्शन कराते हुए एसी होटल में ठहरने व खाने की सुविधा देंगे। मुलसमानों भाईयों के लिए अजमेर शरीफ और सिख भाईयों के लिए करतारपुर साहिब की मुफ्रत यात्र का प्रावधान होगा। वहीं हर घर को रोजगार और रोजगार न मिलने तक हर माह 5 हजार रुपये भत्ता, नौकरियों मेें प्रदेशवासियों को 80 प्रतिशत आरक्षण, 6 माह में एक लाख नौकरियां, प्राईवेट सेक्टर में नौकरियों के लिए जॉब पोर्टल, पलायन रोकने के लिए रोजगार व पलायन मंत्रलय का गठन किया जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल सिडकुल स्थित एक होटल में पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि यदि चुनाव के बाद उनके द्वारा किए गए वायदे पूरे नहीं होते तो जनता को ये अधिकार है की वे उनकी गर्दन पकड़ कर उनसे वायदे के बारे में पूछ सकेगा। उत्तराखण्ड में कांग्रेस व भाजपा बारी-बारी शासन करती आ रही हैं लेकिन जो वायदे उनके द्वारा चुनाव के वक्त जनता से किये जाते हैं उन पर दोनों पार्टियां खरी नहीं उतरती। और दोनों की पार्टियां एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए एक-दूसरे के स्टिंग होने का दावा तो करती हैं लेकिन उनकी सरकार बनने के बाद आरोपों की जांच नहीं कराती। दोनों पार्टियों ने उत्तराखण्ड को लूटने का काम किया। उन्होंने जनता से अपील की है कि आप को एक मौका दे उत्तराखण्ड की सेवा करने का देें। उत्तराखण्ड में भी दिल्ली की तर्ज पर विकास के काम देखने को मिलेंगे।