Follow Us:

पीपी एवं बोनस भुगतान की मांग को लेकर भेल हरिद्वार के कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, दिया धरना

 
bhel union

हरिद्वार (दैनिक हाक): पीपी एवं बोनस भुगतान नहीं होने से गुस्सायी भेल की हीप एवं सी.एफ.एफ.पी. की श्रमिक यूनियनों ने प्रबंधन के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया और जीएम एचआर को ज्ञापन दिया। इस अवसर पर भेल श्रमिक नेता पूर्व विधायक रामयश सिंह व पंकज शर्मा ने कहा कि दीपावली का पर्व नजदीक आ गया है। लेकिन प्रबंधन ने श्रमिकों को पीपी एवं बोनस भुगतान के लिए संयुक्त समिति की बैठक अब तक नहीं बुलायी है। उन्होंने कहा कि भेल प्रबंधन लगातार श्रमिक विरोधी नीतियां अपना रहा है। श्रमिक यूनियनों के चुनाव को पंाच वर्ष पूरे हो चुके हैं। बार-बार मांग करने के बाद भी प्रबंधन यूनियनों के चुनाव नहीं करा रहा है। इसके अलावा एक करोड़ रूपए टर्म इंश्योरेंस, मृतक आश्रित के परिजन को रेगुलर नौकरी देने आदि श्रमिकों की मांगों को भी लटकाया जा रहा है। श्रमिकों को मिलने वाली रात्रि भत्ता,  कैन्टीन सब्सिडी, व्हीकल सब्सिडी आदि सुविधाओं में कटौती और बंद की जा रही हैं। जबकि अधिकारियों को मिलने वाली सुविधाऐ यथावत जारी हैं। प्रबंधन के श्रमिक विरोधी रवैये को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जल्द से जल्द जेसीएम बुलाकर दीपावली से पूर्व श्रमिकों को बोनस व पीपी का भुगतान जाएगा। सौरभ त्यागी और संदीप कुमार ने कहा कि कोरोना की आड़ में प्रबंधन श्रमिक यूनियनों के मान्यता चुनाव नहीं करा रहा है। लोकतान्त्रिक प्रक्रिया का पालन करते हुये तत्काल यूनियनों के मान्यता के चुनाव कराए जाएं। 
मोहित शर्मा और अमित कुमार ने कहा कि भेल प्रबन्धन पिछले 2 सालों 1 करोड़ के टर्म इंश्योरेंस लागू करने का आश्वासन दे रहा है किन्तु अभी तक 1 करोड़ रूपये का टर्म इंश्योरेंस लागू नहीं हुआ है। जिसके कारण से भेल के मजदूरों में काफी रोष है। राजकुमार और पवन कश्यप ने कहा कि सभी कर्मचारियों के लिए एक सम्मानजनक इंसेंटिव स्कीम लागू की जानी चाहिए। जिसमें सभी कर्मचारियों को शामिल किया जाना चाहिए। अमरजीत सिंह एवं गगन वर्मा ने कहा की कोरोना से जिन कर्मचारियों की मृत्यु हुई है। उन कर्मचारियों के आश्रित को योग्यतानुसार रेगुलर सेवा में लेने हेतु तत्काल पॉलिसी बनाई जाये। क्वार्टर आवंटन एवं मृत्यु सहायता राशि का लाभ 5 वर्ष के स्थान पर कर्मचारी की सेवानिवृत्ति तिथि तक दिया जाये और जिन कर्मचारियों की सामान्य मृत्यु हुई है। उन्हें भी इस पॉलिसी का लाभ दिया जाए।  प्रदर्शन में पंकज शर्मा, विकास सिंह, सौरभ त्यागी, संदीप कुमार, मोहित शर्मा, अमित कुमार, पवन कश्यप, राजकुमार, सत्यशील वत्स, संदीप चौधरी, अमरजीत सिंह, गगन वर्मा, प्रीतम सिंह सौदाई, अमित गोगना, जयशंकर सिंह, सचिन शर्मा, रविंद्र चौहान, प्रेमचंद सिमरा, रवि कश्यप, नईम खान, इंद्रपाल शर्मा, परितोष कुमार, रामकुमार, महेंद्र बिष्ट, हरबंस लाल, कृपाल सिंह, रवि राय, अरविंद कुमार, कुमुद श्रीवास्तव, आदेश कुमार, विकास परेडा शामिल सहित भेल के सैकड़ों कर्मचारी शामिल रहे।