Home > राज्य > उत्तराखण्ड > 14 मई के गुरूद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूवमेन्ट को दिया समर्थन

14 मई के गुरूद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूवमेन्ट को दिया समर्थन

 Agencies |  2017-05-11 07:49:51.0  0  Comments

14 मई के गुरूद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूवमेन्ट को दिया समर्थन

हरिद्वारः ज्ञान गोदड़ी की मांग को लेकर चल रहा धरना 220वें दिन भी जारी रहा। सिख समाज द्वारा शांतिपूर्वक तरीके से धरना दिया जा रहा है। इस अवसर पर धरने पर बैठे सिख समाज के लोगों ने एक बैठक का आयोजन किया और 14 मई को गुरूद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूवमेंट हरकी पौड़ी के आयोजित होने वाले कार्यक्रम को अपना पूरा समर्थन दिया जायेगा। बैठक को सम्बोधित करते हुए ग्रन्थी दीनारपुर कुलबीर सिंह ने कहा कि पिछले 7 महीनों से सिख समाज द्वारा गुरूद्वारे की मांग को लेकर धरना दिया जा रहा है लेकिन शासन प्रशासन इस पर अपनी गंभीरता नहीं दिखा रहा जिससे सिख समाज में भारी रोष व्याप्त हैं। उन्होंने कहा कि 14 मई को संक्रान्त वाले दिन विश्व के समस्त गुरूद्वारों मंे पाठ व अरदास का आयोजन किया जा रहा है जिसका धरने पर बैठे सिख समाज ने भी अपना समर्थन देगा।
उन्होंने बताया कि शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी अमृतसर के प्रधान जत्थेदार कृपाल सिंह बन्डूगर और दिल्ली गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी प्रधान मंजीत सिंह जी0के0 द्वारा गुरूद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूवमेन्ट हरकी पौड़ी की इस मुहिम को हरिद्वार सिख समाज पूर्ण रूप से अपना समर्थन देगा। सुब्बा सिंह ढिल्लो ने कहा कि हरिद्वार का सिख समाज हरकी पौड़ी पर ऐतिहासिक जगह को लेकर पिछले तीन दशक से आंदोलन कर रहा है। दिल्ली गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी और शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी अमृतसर के गठबन्धन से गुरूनानक देव जी की हरकी पौड़ी स्थित ऐतिहासिक जगह जल्द प्राप्त होने की उम्मीद है। प्रधान सतपाल सिंह चैहान ने कहा कि वर्ष 2003 मंे अल्पसंख्यक आयोग दिल्ली द्वारा हरकी पौड़ी पर ऐतिहासिक जगह के लिए सहमति दिलाई गई थी और पत्राचार द्वारा भी इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया गया था लेकिन अभी तक इसका कोई हल नहीं निकाला गया इससे सिख समाज में भारी रोष है। जोगा सिंह ने कहा कि पूर्व में हरकी पौड़ी के समीप धरना दिया गया था लेकिन शासन प्रशासन द्वारा आश्वासन देकर धरना समाप्त किया गया था परन्तु उसके बाद भी किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं हुई उसके बाद पुनः धरना शुरू किया गया जिसको आज 220 दिन हो गये हैं। परन्तु अभी तक शासन प्रशासन द्वारा कोई भी उचित कार्यवाही नहीं की गई है जिससे सिख समाज में भारी रोष है। इस अवसर पर बाबा पंडित, सुखदेव सिंह, लाहौरी सिंह, पाला सिंह, यशपाल सिंह चैहान, रिशपाल सिंह बाबा सुन्दर सिंह, कुलवीर सिंह, बलबीर सिंह, अंग्रेज सिंह, बलदेव सिंह, जगजीत सिंह, रणप्रीत सिंह, अनूप सिंह सिद्धू, संतोक सिंह आदि उपस्थित थे।
--हाक न्यूजलाईन

Tags:    
Share it
Top