Home > राज्य > उत्तराखण्ड > बुध पूर्णिमा पर लाखों लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी

बुध पूर्णिमा पर लाखों लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी

 Agencies |  2017-05-11 07:35:40.0  0  Comments

बुध पूर्णिमा पर लाखों लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी

हरिद्वारः बुध पूर्णिमा के पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। सुबह से ही हरकी पौड़ी सहित विभिन्न घाटों पर यात्री श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहा। स्नान का क्रम लगातार गंगा घाटों पर देखने को मिला। श्रद्धालु भक्तों ने पूजा अर्चना कर भगवान सूर्य को अध्र्य देकर अपने परिवारों की सुख समृद्धि की कामना की। बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्तों द्वारा दान पुण्य के कार्य भी बढ़ चढ़कर किये गये। श्रद्धालु भक्तों द्वारा भण्डारों के आयोजन भी बुध पूर्णिमा के अवसर पर किये गये। बुध पूर्णिमा के स्नान के लिए देश के विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का आगमन हरिद्वार में होता रहा। स्नान के लिए दिल्ली, हरियाणा, बिहार, महाराष्ट्र, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश हिमाचल प्रदेश, राजस्थान गुजरात मध्य प्रदेश के अलावा पंजाब से भी भारी संख्या में श्रद्धालु भक्त हरिद्वार पहुंचे। अन्य राज्यों से भी श्रद्धालुओं का आगमन लगातार बुध पूर्णिमा के अवसर पर होता रहा। वहीं गंगा घाटों के अलावा आश्रमों, अखाड़ों मंे भी बुध पूर्णिमा के अवसर पर पूजा अर्चना एवं भण्डारों के आयोजन किये गये।
बुध पूर्णिमा का महत्व पर संत महापुरूषों पर प्रकाश भी डाला गया। फलदायी बुध पूर्णिमा श्रद्धालु भक्तों के लिये परिवारों मंे सुख सृमद्धि व प्रसन्नता को लेकर पहुंचती हैं। ऐसे में विधि विधान से किये गये अनुष्ठान से अवश्य ही श्रद्धालु भक्तों को लाभ पहुंचता है। सुबह से ही हरिद्वार के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालु भक्तों द्वारा पूजा अर्चनायें की गई। हरकी पौड़ी सहित विभिन्न घाटों पर श्रद्धालु भक्त उमड़े रहे। बढ़ती गर्मी से भी श्रद्धालु भक्तों की आस्था कमजोर नहीं हुई महिलायें बुजुर्ग एवं युवा वर्ग ने भी बुध पूर्णिमा के अवसर पर स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित किया। स्थानीय नागरिकों ने भी बुध पूर्णिमा पर गंगा में डुबकी लगातार सूर्य भगवान को अध्र्य देकर अपने परिवारांे की सुख समृद्धि की कामना की। पं0 शक्तिधर शास्त्री ने बताया कि बुध पूर्णिमा पर विधि विधान के साथ अनुष्ठान करने चाहिये। दान पुण्य करने से अवश्य ही पुण्य अर्जित किया जा सकता है। हमें मनुष्य कल्याण के लिए सदैव ही तत्पर रहना चाहिये। --हाक न्यूजलाईन

Tags:    
Share it
Top