Home > राज्य > उत्तराखण्ड > शराब नीति व खनन नीति पर सरकार करे जल्द विचारः इंदिरा हृदयेश

शराब नीति व खनन नीति पर सरकार करे जल्द विचारः इंदिरा हृदयेश

 Agencies |  2017-04-14 07:27:52.0  0  Comments

शराब नीति व खनन नीति पर सरकार करे जल्द विचारः इंदिरा हृदयेश

हरिद्वारः जयराम आश्रम में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने पत्रकारों के समक्ष बोलते हुए कहा कि प्रचण्ड बहुमत से नई सरकार अस्तित्व मंे आई है मतदाताओं को सरकार से काफी आशायें हैं। सरकार को जनता की आशाओं पर खरा उतरना चाहिये।
उन्होंने शराबबंदी पर कोर्ट के निर्णय की सराहना की और कहा कि राज्य सरकार द्वारा लिया गया निर्णय प्रदेश हित में नहीं हैं। राज्य मार्गो को जिला मार्ग घोषित कर आबादी के अन्दर शराब की दुकानें लगाना प्रदेश हित में नहीं है। महिलायें लगातार प्रदेश में आंदोलन कर रही है। पर्वतीय क्षेत्रों मंे रोजगार की कमी के कारण अनेकों परेशानियां युवाओं को झेलनी पड़ती है ऐसे में प्रदेश सरकार को शराब पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाना चाहिये। युवा पीढ़ी के लिए प्रदेश सरकार को अपनी नीतियों में बदलाव करने की आवश्यकता है। प्रदेश से पलायन की समस्या हल होनी चाहिये। केन्द्र सरकार विशेष पैकेज के तहत राज्य को मदद पहुंचाने का काम कर रही है बशर्ते प्रदेश में विकास कार्य निष्पक्षता के साथ किये जाये। भ्रष्टाचार पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जीरो टोलरेंस की बात प्रदेश के मुख्यमंत्री कर रहे हैं। एन0एच0 घोटाले पर पारदर्शिता अपनाते हुए सरकार को दोषियों के खिलाफ कार्यवाही को अमल में लाये जाने की आवश्यकता है। राज्य सरकार को अपना रूख स्पष्ट करना होगा। देवभूमि पवित्र नगरी है राज्य की नीतियों मंे पारदर्शिता अपनानी होगी। खनन को लेकर राज्य सरकार की नीतियां लड़खड़ाई हुई हैं चुगान से लाखों लोगों का रोजगार जुड़ा है। वैद्य अवैध खनन को लेकर स्पष्ट नीति अपनाई जाये। शिक्षकों के प्रकरण पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि गैस्ट अध्यापक हटाये गये दो माह का समय कोर्ट द्वारा शिक्षकों को दिया गया शिक्षक विहिन स्कूल राज्य के बच्चों के लिए खतरे का संकेत हैं। बड़े-बड़े बयानों से काम चलने वाला नहीं है। आगामी बजट सत्र में सरकार को अपनी मंशायें सिद्ध करनी होगी। ईवीएम मशीन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि संदेह को दूर करने की आवश्यकता है केन्द्र सरकार एवं चुनाव आयोग को संदेह को दूर करना होगा। जयराम आश्रम के पीठाधीश्वर ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने बैसाखी पर्व की शुभकामनायें दी। पवित्र नगरी हरिद्वार आस्था का केन्द्र है देश विदेश से श्रद्धालु भक्त मां गंगा में डुबकी लगाने पहुंचते हैं ऐसे मंे गंगा को प्रदूषण मुक्त करने मंे सरकार को ठोस पहल करनी चाहिये। --हाक न्यूजलाईन

Tags:    
Share it
Top