Home > राज्य > उत्तराखण्ड > शहर के एटीएम कैशलेस होने से उपभोक्ताओं को उठानी पड़ी परेशानी

शहर के एटीएम कैशलेस होने से उपभोक्ताओं को उठानी पड़ी परेशानी

 Agencies |  2017-04-09 18:58:20.0  0  Comments

शहर के एटीएम कैशलेस होने से उपभोक्ताओं को उठानी पड़ी परेशानी

रुड़कीः शहर के सभी 72 एटीएम रविवार को कैशलेस हो गये। एटीएम कार्ड लेकर वह कभी इस एटीएम तो कभी उस एटीएम दौड़ लगाते रहे लेकिन निराशा ही हाथ लगी। एक प्राइवेट बैंक ने दोपहर बाद कैश डाला भी लेकिन करीब घंटेभर बाद ही उसमें भी कैश समाप्त हो गया। अब सोमवार को ही ग्राहकों को नकदी मिलने की उम्मीद है।
एटीएम से निकासी की सीमा बाध्यता खत्म होने के बाद से रुड़की शहर में एक दिन में करीब ढाई से तीन करोड़ रुपये निकल जा रहे हैं। जबकि आउट सोर्सिंग एजेंसी सभी एटीएम को चलाने के लिये 8 करोड़ रुपये की मांग कर रही है। शनिवार और रविवार को छुट्टी होने की वजह से बैंकों के एटीएम में नकदी ही नहीं मिल पाई। आईआईटी परिसर में लगे एटीएम हो या फिर सिविल लाइंस, मेन बाजार, बीटीगंज, पुराना रेलवे रोड, चंद्रपुरी, रेलवे स्टेशन, रामनगर के अलावा राजमार्ग के सभी एटीएम रविवार को नकदी से खाली रहे। ग्राहक सुरेन्द्र कुमार, विपिन वर्मा, जितेन्द्र आदि ने बताया कि घंटों तक ग्राहक एटीएम कार्ड लेकर दौड़ लगाते रहे लेकिन कहीं पर भी नकदी नहीं मिली है। बैंकों को छुट्टी के दिन तो नकदी की व्यवस्था करनी चाहिये। रुड़की शहर में अधिकांश एटीएम मशीन पुराने मॉडल की है। यदि एटीएम मशीन में कैश नहीं है तो वह आउट ऑफ सर्विस नहीं दर्शाती है। इसके अलावा एटीएम पर नो कैश के बोर्ड भी नहीं लगाये गये हैं। इसके चलते ग्राहक एटीएम में कार्ड डालकर नकदी निकालने की कोशिश करता है तो कैश नहीं निकल पा रहा है। इससे कई लोगों को टेंशन भी हुई, कुछ ने बैंकों के टोल फ्री नंबर पर इस बात की जानकारी भी दी। ग्राहकों की मानें तो यदि एटीएम में कैश नहीं है तो उन पर या तो बोर्ड लगाया जाए, या फिर उनके शटर डाउन कर दिये जाएं। --हाक न्यूजलाईन

Tags:    
Share it
Top