Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > यादवी कुनबे में फिर घमासान, मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव का टिकट कटा

यादवी कुनबे में फिर घमासान, मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव का टिकट कटा

यादवी कुनबे में फिर घमासान, मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव का टिकट कटा

लखनऊ: लखनऊ कैंट विधानसभा उपचुनाव में मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव नहीं उतरेंगी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कल पार्टी दफ्तर में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया, बाद में शुक्रवार को आशीष चतुर्वेदी की उम्मीदवारी का ऐलान किया गया।

ज्ञात रहे कि लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट पर भाजपा की रीता बहुगुणा जोशी के इस्तीफे के बाद उपचुनाव होना है। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में अपर्णा यादव ही यहां से समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार थीं, रीता जोशी यहां से चुनाव जीती थीं जबकि अपर्णा दूसरे नंबर पर थीं। चूंकि रीता जोशी इलाहबाद से पिछला लोकसभा चुनाव जीत गई हैं इसलिए विधानसभा सीट से उनके इस्तीफे के बाद यह सीट खाली हो गई है।

अपर्णा यादव यहां से इस बार फिर दावेदार थीं। चूंकि वह मुलायम सिंह की बहू हैं और पिछला चुनाव भी यहां से लड़ चुकी हैं इसलिए भी इस सीट पर उनकी दावेदारी मानी जा रही थी।

अपर्णा यादव मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना यादव के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं। ऐसा कहते हैं कि मुलायम सिंह यादव अपनी राजनीतिक विरासत अखिलेश यादव को देना चाहते थे और यह भी चाहते थे कि परिवार में अखिलेश के नेतृत्व पर किसी और की दावेदारी न हो इसलिए उन्होंने अपने छोटे बेटे प्रतीक यादव को राजनीति से दूर रखा। प्रतीक बिज़नेस करते हैं। वह मंहगी गाड़ियों के शौक के लिए जाने जाते हैं।

यादव परिवार में अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल यादव में काफी झगड़ा है। ऐसा मान जाता है कि परिवार के इस झगड़े में मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना यादव शिवपाल का साथ देती हैं। उनकी बहू अपर्णा यादव हालांकि अखिलेश यादव के खिलाफ खुलकर कभी कुछ नहीं बोलती हैं, लेकिन चाचा शिवपाल के लिए उनका भी सॉफ्ट कार्नर माना जाता है।


Tags:    
Share it
Top