Home > खेल > क्रिकेट > रोहित के दोहरे शतक और रहाणे के शतक से भारत 497/9

रोहित के दोहरे शतक और रहाणे के शतक से भारत 497/9

रोहित के दोहरे शतक और रहाणे के शतक से भारत 497/9

-दक्षिण अफ्रीका ने 9 रनों पर ही गंवाये दो विकेट

रांची: सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के टेस्ट मैच में पहले दोहरे शतक और अजिंक्य रहाणे के शतक की सहायता से भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन मैच पर अपना शिकंजा कस दिया है। भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी नौ विकेट पर पर 497 रन बनाकर घोषित कर दी। इसके बाद बल्लेबाजी करते हुए मेहमान दक्षिण अफ्रीकी टीम ने अपनी पहली पारी में 9 रनों पर ही अपने दो विकेट खो दिये थे। खराब रौशनी के कारण समय से पहले खेल समाप्त किये जाने के समय पर डुप्लेसिस 1 रन पर खेल रहे थे जबकि जुबैर हमजा ने अपना खाता नहीं खोला था। सलामी बल्लेबाज एल्गर शून्य और नोक 4 रन बनाकर आउट हुए। भारत की ओर से मो शमी और उमेश यादव ने एक-एक विकेट लिया। इस प्रकार मेहमान टीम अभी भी भारत से 488 रन पीछे हैं जबकि उसके पास आठ विकेट बचे हैं।

इससे पहले दूसरे दिन के खेल का आकर्षण रहाणे और रोहित की बल्लेबाजी रही। रोहित ने 212 रन और रहाणे ने 115 रन की शानदार शतकीय पारियां खेलीं। इसके अलावा ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने भी 51 रन बनाए। अंतिम क्षणों में उमेश यादव ने 10 पर 31 रनों की तूफानी पारी खेलकर सबको हैरत में डाल दिया। उमेश ने अपनी इस रिकार्ड पारी में पांच छक्के लगाये। भारत ने चायकाल पर 116.3 ओवर में नौ विकेट पर 497 रन बनाने के साथ ही अपनी पारी घोषित कर दी। वहीं दक्षिण अफ्रीका टीम की ओर जार्ज लिंडे ने 133 रन देकर सबसे ज्यादा चार विकेट लिए। कैगिसो रबादा ने 85 रन पर तीन खिलाड़ियों को आउट किया। एनरिच नोर्त्जे और डेन पिएट को एक एक विकेट मिला।

रोहित और रहाणे की बल्लेबाजी के सामने मेहमान टीम के गेंदबाज बेबस नजर आये। रोहित ने शतक को दोहरे शतक में बदलते हुये 212 रन की पारी खेली जो उनका टेस्ट करियर में पहला दोहरा शतक भी है। उन्होंने 255 गेंदों में 28 चौके और छह छक्के लगाए। 30वां टेस्ट खेल रहे रोहित का यह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। उनकी पिछली सर्वश्रेष्ठ टेस्ट पारी 177 रन थी। इस दौर रोहित ने एक सीरीज़ में सर्वाधिक 17 छक्के लगाने का नया रिकार्ड अपने नाम करने के साथ ही महान सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर को भी एक सीरीज़ में तीन से अधिक शतक लगाने के मामले में पीछे छोड़ दिया है। भारत की ओर से यह इस सीरीज़ का दूसरा दोहरा शतक है। इससे पहले कप्तान विराट कोहली ने पुणे टेस्ट में नाबाद 254 रन की दोहरी शतकीय पारी खेली थी। वहीं रहाणे ने अपना 11 शतक लगाया। रहाणे ने तीन साल बाद घरेलू जमीन पर शतक लगाया है। अपना आखिरी टेस्ट शतक भारत में साल 2016 में लगाया था।

उमेश यादव ने पांच छक्के लगाकर तोड़े कई रिकार्ड

दूसरे दिन उमेश यादव की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी देखने को मिली है। जडेजा के पवेलियन लौटने के बाद जैसे ही उमेश क्रीज पर आए, उन्होंने गेंद पर बड़े शॉट लगाना शुरू कर दिया जिसके देखकर खुद कप्तान विराट कोहली भी हैरान हो गये। जॉर्ज ‌लिंडे की गेंद पर उमेश ने छक्का लगाकर अपना खाता खोला। अगली गेंद पर जैसे ही उन्होंने लगातार दूसरा छक्का मारा प्रशंसकों सहित ड्रेसिंग रूम में बैठे विराट भी अपनी कुर्सी छोड़कर उछलने लगे। वहीं गेंदबाज जॉर्ज ने तो उनके सामने हाथ जोड़ लिए थे। उमेश यादव के बल्ले से एक के बाद एक छक्का निकलते देख कोहली का मुंह खुला का खुला रह गया। उन्हे भी उमेश से ऐसी आक्रामक बल्लेबाजी की उम्मीद नहीं थी। अपनी इस तेज पारी से उमेश ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए। नौ गेंद पर 31 रन जड़ने के बाद 10वीं गेंद पर वह हेनरिक क्लासन को कैच थमा बैठे। उनकी यह पारी टेस्‍ट क्रिकेट में सबसे तेज 30 रन से ज्‍यादा की पारी है। तब से किसी बल्‍लेबाज ने उनसे तेज 30 से ज्यादा का स्‍कोर नहीं किया है। उमेश ने 310 की स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए। उन्‍होंने न्‍यूजीलैंड के पूर्व कप्‍तान स्‍टीफन फ्लेमिंग के 15 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा। फ्लेमिंग ने 2004 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ऑकलैंड में 11 गेंद में नाबाद 31 रन बनाए थे।


Tags:    
Share it
Top