Home > मुख्य समाचार > केजरीवाल ने आखिरकार चुप्पी तोड़ी, गलती स्वीकारी

केजरीवाल ने आखिरकार चुप्पी तोड़ी, गलती स्वीकारी

केजरीवाल ने आखिरकार चुप्पी तोड़ी, गलती स्वीकारी

नयी दिल्ली : पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों के बाद दिल्ली नगर निगम चुनावों में आम आदमी पार्टी (आप) को मिली करारी हार के बाद पार्टी में चौतरफा उठ रहे विरोधोंं सुरों पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज चार दिन बाद चुप्पी तोड़ते हुए गलती स्वीकार की है। अभी तक इलैक्ट्रानिक वाेटिंग मशीनों (ईवीएम)को हार का कारण बताने वाले श्री केजरीवाल ने कहा"मेरी पिछले दो दिन के दौरान कईं पार्टी वालंटियर और मतदाताओं से बातचीत हुई है और वास्तविकता की जानकारी मिली है। सच्चाई यह है कि हमने गलतियां की हैं और हम इन पर आत्म चिंतन कर इन्हें सुधारेंगें।" श्री केजरीवाल ने आज सुबह टिवटर पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा" समय आ गया है कि हम अपनी गलतियों को स्वीकारें और इन्हें ठीक करने का प्रयास करें। यह करना आवश्यक है और हमें चिंतन करना होगा,बहाने बनाने का समय नहीे है। अब कार्रवाई करने की जरूरत है और हमें फिर से अपने काम में जुट जाना होगा।" पार्टी संयोजक ने कहा" हम समय समय पर फिसले लेकिन अहम बात यह होगी कि हम खुद को पहचाने और उठ खड़े हाेकर वापसी करें।" मुख्यमंत्री ने कहा " इन पराजयों से उनकी सरकार के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा और पार्टी बदलाव के रास्ते पर आगे बढ़ती रहेगी और दिल्ली की जनता को वह सब देने का प्रयास करेगी जिसके वे लायक हैं।" गाैरतलब है कि 26 अप्रैल को निगम चुनावों में पार्टी को मिली करारी हार के बाद पार्टी में चौतरफा विरोध के स्वर उठ रहे हैं। कल पार्टी के प्रमुख नेता और संस्थापक सदस्याें में से एक कुमार विश्वास ने पिछले वर्ष केन्द्र सरकार के सर्जिकल स्ट्राइक और नाेटबंदी के निर्णयों पर पार्टी के बयानों पर सवाल खड़ा करते हुए कहा था "हमें जनता ने हराया है ईवीएम ने नहीं।" इससे पहले भी कईं पार्टी नेता चुनावों में करारी हार को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। राजधानी दिल्ली में निगम चुनावों में अाप को मात्र 48 सीटें मिली है जबकि भारतीय जनता पार्टी को 181 सीटें हासिल हुई हैं। --वार्ता


Tags:    
Share it
Top