Home > राजनीति > शराबबंदी न करने पर नीतीश ने झारखंड सरकार की आलोचना की

शराबबंदी न करने पर नीतीश ने झारखंड सरकार की आलोचना की

शराबबंदी न करने पर नीतीश ने झारखंड सरकार की आलोचना की

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी को मुद्दा बनाकर शनिवार को रांची में अपनी पार्टी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में झारखंड सरकार की आलोचना की। नीतीश कुमार ने कहा, 'यह क्या तरीक़ा है भाई।।।ये कितनी गंदी बात है।' हालांकि नीतीश ने रघुबर दास का नाम नहीं लिया, लेकिन उनका इशारा साफ़ था।

नीतीश ने कहा कि बहुत लोग मेरी आलोचना कर रहे हैं लेकिन बिहार को इससे (शराबबंदी से) बहुत फ़ायदा हुआ और राजस्व की जो क्षति हुई उसकी भरपाई कर ली गई है। नीतीश ने कहा कि झारखंड में भी अगर जनता दल यूनाइटेड को मौक़ा मिला तो वहां के पांच निश्चय में शराबबंदी को भी एक निश्चय के रूप रखा गया है।

आपको बता दें कि झारखंड के विधानसभा चुनाव को देखते हुए नीतीश कुमार इन दिनों राज्य में सक्रिय हैं। उन्होंने झारखंड इकाई को चुनाव में कितनी सीटों पर लड़ना है या किसके साथ गठबंधन करना है, इस फैसले के लिए अधिकृत किया है। नीतीश कुमार ने अपने भाषण के अधिकांश हिस्से में बिहार में किए गए कार्यों को गिनाया और कहा कि जबसे उनकी सरकार बनी है, समाज के सभी वर्गों का विकास हुआ है। इस सम्बंध में उन्होंने कई आंकड़े भी दिए। उन्होंने झारखंड के लिए पांच निश्चय, जिसमें हर क्षेत्र के लिए विकास प्राधिकरण, बिहार की तर्ज़ पर पिछड़ी और अति पिछड़ी जातियों के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान, बुनकरों के लिए विशेष व्यवस्था आदि को शामिल किया है।


Tags:    
Share it
Top