Top
Home > राष्ट्रीय > उद्धव 1 दिसंबर को लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

उद्धव 1 दिसंबर को लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

उद्धव 1 दिसंबर को लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

- 1 दिसंबर को शिवाजी पार्क में हो सकता है शपथ ग्रहण

- कांग्रेस नहीं, भाजपा के कोलंबकर को बनाया प्रोटेम स्पीकर

मुंबई: महाराष्ट्र की एक माह से चली आ रही सियासी सरगर्मी पर से मंगलवार को पूरी तरह से पर्दा उठ गया है। 80 घंटे मुख्यमंत्री रहे देवेंद्र फडणवीस और उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने अपने पदों से इस्तीफा देकर मैदान छोड़ दिया है। दोनों के इस्तीफे सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आए है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि बुधवार शाम 5:00 बजे फ्लोर टेस्ट होगा और इसका सीधा प्रसारण भी किया जाएगा। इसके बाद ही सीएम फडणवीस और उप मुख्यमंत्री ने इस्तीफा दिया था। इसके साथ ही शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की साझा सरकार बनने का समीकरण स्पष्ट हो गया है। बताया जा रहा है कि गठबंधन की सरकार में उद्धव 1 दिसंबर को शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

उद्धव को सर्वसम्मति से चुना

होटल ट्राइडेंट में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस विधायकों की बैठक में शिवसेना विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे ने गठबंधन का नाम महा विकास अघाड़ी रखने का प्रस्ताव पेश किया, जिसे सभी विधायकों ने स्वीकार कर लिया। बैठक में शरद पवार और उनकी बेटी सुप्रिया सुले मौजूद थे। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पत्नी रश्मि और बेटों आदित्य व तेजस के साथ उपस्थित थे। उद्धव को गठबंधन का नेता चुना गया। इसके तुरंत बाद तीनों दल राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश करने पहुंचे।

यह स्थायी गठबंधन सरकार : पवार

बैठक के बाद राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा कि यह गठबंधन स्थायी सरकार देने के लिए हुआ है। अब हम महाराष्ट्र का विकास करेंगे। उन्होंने कहा कि हम साझा न्यूनतम कार्यक्रम के तहत मिलकर काम करेंगे।

कोलंबकर ने आज बुलाया सत्र

प्रोटेम स्पीकर भाजपा के कालिदास कोलंबकर चुने गए हैं, उन्होंने बुधवार को विधानसभा का पहला सत्र बुलाया है। फडणवीस के इस्तीफे के एक घंटे बाद ही तय हो गया कि भाजपा विधायक कालिदास कोलंबकर प्रोटेम स्पीकर की शपथ ली। इससे पहले कांग्रेस ने बाला साहेब थोराट को प्रोटेम स्पीकर बनाने की मांग की थी। थोराट 8 बार के विधायक हैं। राकांपा ने जयंत पाटिल को विधायक दल का नेता चुना है।

खुला मतदान हो, कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया जाए : सुप्रीम कोर्ट

शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया। शीर्ष अदालत ने कहा था कि तुरंत प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर बुधवार शाम 5:00 बजे तक विधायकों का शपथ ग्रहण करा लिया जाए। इसके बाद गुप्त मतदान के बिना, खुले मतदान के जरिए फ्लोर टेस्ट कराएं। विधानसभा की कार्यवाही का सीधा प्रसारण भी हो।

हम हॉर्स ट्रेंडिंग नहीं करते : फडणवीस

फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया और जब बुधवार को बहुमत साबित होना है, तब अजित पवार ने हमसे मुलाकात की और कहा कि कुछ कारणों से वे इस गठबंधन में नहीं रह सकते। उन्होंने अपना इस्तीफा मुझे सौंपा। उनका इस्तीफा आने के बाद हमारे पास भी बहुमत नहीं है। भाजपा ने पहले दिन से एक भूमिका ली थी कि हम किसी विधायक को नहीं तोड़ेंगे। हम हॉर्स ट्रेंडिंग नहीं करेंगे। इसलिए मैं इस्तीफा दे रहा हूं। शिवसेना के नेता सोनिया गांधी के नाम की कसम खा रहे थे। हमें आश्चर्य हुआ कि सत्ता के लिए वे कितने लाचार हैं।

Updated : 27 Nov 2019 12:47 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top