Home > राष्ट्रीय > डीएसपी देवेंद्र सिंह ने दी थी हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को पनाह

डीएसपी देवेंद्र सिंह ने दी थी हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को पनाह

डीएसपी देवेंद्र सिंह ने दी थी हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को पनाह

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में एक गाड़ी से हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों के साथ मौजूद जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह ने आतंकियों को अपने घर में भी पनाह दी थी। देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद उनके घर पर मारे गए छापे के बाद ये जानकारी सामने आई है। सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान एक एके 47 राइफल और दो पिस्टल भी बरामद की गई।

जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर जब देवेंदर सिंह को पकड़ा गया था तब वो हिजबुल आतंकियों को कश्मीर से बाहर ले जा रहा था। जांच से यह भी पता चला कि तीनों आतंकी श्रीनगर के बादामी बाग स्थित हाई सिक्योरिटी जोन में देवेंदर सिंह के घर पर भी उनके साथ रुके थे। देवेंदर सिंह शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां से आतंकियों को अपने घर तक लाया और उन लोगों ने वहीं रात बिताई। शीर्ष हिजबुल कमांडर नवीद बाबू और उसके दो साथी इरफान और रफी ने सेना के 15 कोर मुख्यालय के ठीक बगल के घर में रात बिताई। सूत्रों ने बताया कि वे शनिवार सुबह जम्मू के लिए निकले, जहां से वे दिल्ली जाने की योजना बना रहे थे। राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित पुलिस अधिकारी ने नवीद को कई बार अलग-अलग जगहों पर पहुंचाया था। पिछले साल, वह उसे जम्मू ले गया था। सूत्रों का कहना है कि देवेंदर सिंह से आतंकियों जैसा ही सलूक किया जा रहा है और सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों की टीम उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि वह शुक्रवार सुबह से ही देवेंद्र सिंह और नवीद बाबू की गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे।

उन्होंने बताया कि देवेंदर सिंह जब कथित रूप से तीनों आतंकियों को शुक्रवार की शाम अपने घर ले गया तो सादे कपड़ों में पुलिसकर्मी पहले से ही उसपर नजर बनाए हुए थे।

देवेंदर सिंह और तीनों आतंकी शनिवार सुबह करीब 10 बजे घर से निकले थे और जब वे श्रीनगर से लगभग 60 किलोमीटर दूर थे तब पुलिस ने उनकी कार को रोका था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि नवीद की गिरफ्तारी बड़ी सफलता है, उसके सिर पर 20 लाख रुपये का इनाम था। वहीं, इरफान पिछले कुछ सालों में करीब पांच बार पाकिस्तान का दौरा कर चुका था और सुरक्षा एजेंसियों के पास उसकी गतिविधियों की कोई खास जानकारी नहीं थी।


Tags:    
Share it
Top