Home > राष्ट्रीय > एयरफोर्स डे रिहर्सल आज, हिंडन एयर बेस पर दिखेगी अपाचे और चिनूक की ताकत

एयरफोर्स डे रिहर्सल आज, हिंडन एयर बेस पर दिखेगी अपाचे और चिनूक की ताकत

एयरफोर्स डे रिहर्सल आज, हिंडन एयर बेस पर दिखेगी अपाचे और चिनूक की ताकत

गाजियाबाद: हिंडन एयर बेस पर 8 अक्टूबर को होने वाले एयरफोर्स डे के आयोजन की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। इससे पहले रविवार को हिंडन एयर बेस पर इसकी फुल ड्रेस रिहर्सल में वायुसेना का शौर्य दिखाई दिया। सुरक्षा से लिहाज से मंगलवार को एयफोर्स डे पर कुछ रास्तों को बंद रखा जाएगा। सुरक्षा का जिम्मा 45 से ज्यादा इमारतों पर तैनात कमांडो पर है। हिंडन एयरबेस कैंप के बाहरी हिस्से को सुरक्षा के दृष्टि से अभेद किले में तब्दील कर दिया गया है। इस इलाके की 45 बहुमंजिला इमारतों की छत पर हथियारों से लैस कमांडो तैनात किए गए हैं।

वायुसेना दिवस पर सुरक्षा के मद्देनजर ये कमांडो दूरबीन से हर गतिविधि पर नजर रखेंगे। पुलिस ने हिंडन एयरबेस जाने के रास्ते पर कई नए चेकिंग पॉइंट बनाए हैं। कंट्रोल रूम से भी लगातार सीसीटीवी कैमरों के जरिए हिंडन के ज्यादातर इलाकों पर नजर रखी जा रही है। सीओ साहिबाबाद राकेश कुमार ने बताया हिंडन एयरफोर्स कैंपस के आसपास 2 स्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। एयरबेस जाने वाले रास्तों राजेंद्र नगर गोलचक्कर, करन गेट गोलचक्कर, लाजपत नगर कट व जीटी रोड पर करहेड़ा कट पर बैरियर लगाए गए हैं। यहां मंगलवार सुबह 6 बजे से कार्यक्रम खत्म होने तक वाहनों की आवाजाही पर रोक रहेगी। लोगों को दिक्कत न हो इसलिए पुलिस के साथ सेक्टर वॉर्डन सड़कों पर मोर्चा संभालेंगे और लोगों को बदले रास्ते की जानकारी देंगे। रिहर्सल के दौरान रविवार को पहली बार दुनिया के सबसे खतरनाक युद्धक हेलिकॉप्टर अपाचे की गर्जना सुनाई दी। इस तरह के कार्यक्रम में पहली बार शामिल चिनूक हेलिकॉप्टर ने उड़ान भरी तो लोग देखते रह गए। हालांकि सबसे ज्यादा जोर स्वदेशी युद्धक विमान तेजस पर ही रहा। इस विमान ने सबसे ज्यादा देर तक आसमान में अपनी ताकत का अहसास कराया। हिंडन एयर बेस पर सुबह सवा 8 बजे परेड कमांडर के नेतृत्व में फुल ड्रेस रिहर्सल शुरू हुई।

शुरुआत आकाशगंगा टीम के पैराट्रूपर्स ने की। हवा में 8 हजार फीट की ऊंचाई से कलाबाजी करते हुए वे परेड स्थल के ऊपर उड़ते नजर आए। आतंकियों को सबक सिखाने में अहम भूमिका निभाने वाले वायु सेना के गरुड़ कमांडो ने भी ड्रिल की। शो की सबसे खास बात एयर वॉरियर्स की ड्रिल टू थ्रिल प्रजेंटेशन रहती है। जंगी जहाजों के उड़ान भरने से पहले यह प्रजेंटेशन हुआ। अधिकारियों ने बताया कि वायुसेना में एयर वॉरियर्स की सिर्फ एक ही टीम है। यही ड्रिल ऑफ थ्रिल प्रजेंट करती है।


Tags:    
Share it
Top