Home > राष्ट्रीय > नुसरत की दुर्गा पूजा पर देवबंदी उलेमा बोले यह इस्लाम में हराम है

नुसरत की दुर्गा पूजा पर देवबंदी उलेमा बोले यह इस्लाम में हराम है

नुसरत की दुर्गा पूजा पर देवबंदी उलेमा बोले यह इस्लाम में हराम है

देवबंद: तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद और बंगाली फिल्मों की लोकप्रिय अभिनेत्री नुसरत जहां अपने पति निखिल जैन के साथ मांग में सिंदूर भर कर दुर्गापूजा कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची तो देवबंद के उलेमा के नाराज हो गए। देवबंदी उलेमा ने कहा कि अगर नुसरत जहां को गैर मजहबी काम करने हैं, तो उन्हें अपना नाम बदल लेना चाहिए।

दरअसल, दुर्गाष्टमी के अवसर पर रविवार को नुसरत जहां माथे पर बिंदी, मांग में सिंदूर लगाकर अपने पति निखिल जैन के साथ कोलकाता के पंडाल में पहुंचीं और मां दुर्गा की पूजा-अर्जना की। इस दौरान उन्होंने ढोल भी बजाया। इसके बाद ही देवबंदी उलेमा का बयान सामने आया है।

देवबंदी उलेमा ने कहा नुसरत जहां क्यों गैर-मजहबी काम कर रही हैं, यह समझ से बाहर है? उन्होंने कहा इस्लाम में अल्लाह के सिवा किसी और की इबादत करना हराम है। अगर नुसरत जहां को गैर-मजहबी काम करने हैं, तो उन्हें अपना नाम बदल लेना चाहिए। ऐसा इस्लाम विरुद्ध आचरण करके वे क्यों इस्लाम और मुसलमानों की तौहीन कर रही हैं। देवबंदी उलेमा ने कहा कि नुसरत जहां ने ऐसी हरकत पहली बार नहीं की है, वह इससे पहले भी पूजा समारोहों में हिस्सा लेती रही हैं। इस तरह का अमल इस्लाम के अंदर बिल्कुल जायज नहीं है। इस पर नुसरत जहां ने कहा कि वह विवादों पर ज्यादा ध्यान नहीं देतीं। उन्होंने कहा मुझे जो अच्छा और जरूरी लगता है, वही करती हूं। उन्होंने कहा कि वह मुस्लिम हैं, लेकिन मेरे पति निखिल जैन हैं। मैं सभी धर्मावलंबियों का समान रुप से सम्मान करती हूं।


Tags:    
Share it
Top