Home > राष्ट्रीय > हिंद महासागर में शांति, समृद्धि और स्थिरता की मुख्य चाबी भारत-जापान संबंध: मोदी

हिंद महासागर में शांति, समृद्धि और स्थिरता की मुख्य चाबी भारत-जापान संबंध: मोदी

हिंद महासागर में शांति, समृद्धि और स्थिरता की मुख्य चाबी भारत-जापान संबंध: मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि हिंद महासागर में शांति, समृद्धि और स्थिरता की मुख्य चाबी भारत-जापान संबंध हैं। उन्होंने जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी और रक्षा मंत्री तारो कोनो से मुलाकात के बाद कहा कि वह और जापानी पीएम शिंजो आबे दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी को काफी महत्व देते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें अगले महीने भारत-जापान एनुएल कॉन्फ्रेंस में शिंजो आबे के आने का इंतजार रहेगा। जापान के रक्षा और विदेश मंत्री भारत और जापान के बीच होने वाली टू प्लस टू वार्ता के लिए भारत आए हैं।

दोनों देशों के बीच बातचीत का मुख्य अंश हिंद प्रशांत क्षेत्र समेत सामरिक रूप से अहम जल क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर होगा। ऑफिसर्स के मुताबिक, भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर करेंगे, जबकि जापान की ओर से विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोटेगी और रक्षामंत्री तारो कोनो।

इस बीच जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्स मोतेगी ने कहा कि यह साल काफी महत्वपूर्ण है। भारत जापान संबंध विशेष रणनीतिक और वैश्विक भागीदारी के लिए यह 5 वीं वर्षगांठ है। भारत-जापान के बीच काफी मधुर संबंध हैं। वहीं जापान के रक्षा मंत्री कोनो तारो ने हिंडन में भारतीय वायु सेना अड्डे का दौरा किया। रक्षा मंत्री कोनो तारो के साथ एक प्रतिनिधिमंडल भी आया है।


Tags:    
Share it
Top