Home > अपराध > बदमाशों ने 7 मिनट में लूट लिए 60 लाख रुपए

बदमाशों ने 7 मिनट में लूट लिए 60 लाख रुपए

 Agencies |  2017-03-07 17:16:24.0  0  Comments

बदमाशों ने 7 मिनट में लूट लिए 60 लाख रुपए

पटना: बाढ़ के बेलछी में अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दो गार्ड समेत 3 लोगों की हत्या कर दी और 60 लाख रुपए लूट लिए। दिनदहाड़े वारदात कोरारी बाघा टीला स्थित पंजाब नेशनल बैंक के ब्रांच के ठीक सामने हुआ। दिन के करीब साढ़े 12 बजे थे। पीएनबी की बाढ़ की शाखा से कैश लेकर दो गार्ड के साथ ब्रांच मैनेजर बोलेरो से पहुंचे। तभी बाइक सवार अपराधियों ने गोलियों की बौछार शुरू कर दी। बैंक रोज की तरह सुबह दस बजे खुला था और ग्राहक अपने पैसे जमा करने और निकालने के लिए आ रहे थे। बैंक में नगदी की किल्लत थी। दस हजार तक निकासी करने वालों को पूरी रकम दी जा रही थी और इससे ज्यादा निकालने वालों को रुकने के लिए कहा जा रहा था। सवा बारह बजे ब्रांच के सीनियर मैनेजर राजू जी दो गार्ड के साथ पैसे लेकर आए। गाड़ी का ड्राइवर हाथ में पैसा का बक्सा लिए हुए था और गार्ड पीछे आ रहा था। ड्राइवर अभी गेट पर आया ही था कि इसी दौरान गोली चलने लगी। पहले तो कुछ समझ नहीं आया लेकिन जब लगातार गोली चलने लगी तो लगा कि कुछ गड़बड़ है। बाहर झांका तो देखा कि गार्ड गिरा हुआ है और ड्राइवर भी जख्मी है। इतने में टीशर्ट पहने एक लडक़ा हाथ में पिस्टल लिए गेट पर आया और पैसा लेकर चला गया। मृतकों में रिस्क मैनेजमेंट कंसर्ट सिक्यूरिटी कंपनी के दो गार्ड 58 वर्षीय सुरेश सिंह (खजुरार, भदौर) और 57 वर्षीय योगेश्वर दास (बहरामा, बाढ़) के अलावा बोलेरो का चालक अजित यादव (मालपुर, घोसवरी) शामिल हैं। मौके पर पटना के जोनल आईजी नैयर हसनैन खान, डीआईजी शालिन, एसएसपी मनु महाराज व अन्य आला अफसरों ने पहुंच कर छानबीन की। बताया जा रहा है कि तीनों मृतकों (दो गार्ड व ड्राइवर) को 2-2 गोलियां लगी थीं। पुलिस के मुताबिक, सबसे पहले ब्रांच मैनेजर गाड़ी से उतर कर बैंक में चले गए। पीछे से चालक अजीत यादव रुपए से भरा बैग लेकर अंदर जाने लगा। तभी अचानक अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। गेट पर पहुंचे अजीत गोली लगते ही लहूलुहान होकर गिर गया। इसके बाद बैंक के सामने सडक़ पर गोलियों की बौछार करके दोनों गार्डों की हत्या कर दी। फिर ड्राइवर के पास रहा रुपए से भरा बैग लेकर सभी लुटेरे आराम से निकल गए। बाद में गंभीर स्थिति में घायल चालक को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया लेकिन रास्ते में ही मौत हो गई। अजित अपनी बोलेरो खुद ही चलाता था।

Share it
Top