Home > शहर > सहारनपुर > पानी की लाईन खराब होने पर भाजपाईयों ने काटा हंगामा

पानी की लाईन खराब होने पर भाजपाईयों ने काटा हंगामा

पानी की लाईन खराब होने पर भाजपाईयों ने काटा हंगामा

देवबन्द (दैनिक हाक): देवबंद में सीएचसी स्थित जच्चा बच्चा वार्ड में पीने की पानी की लाईन खराब होने को लेकर भाजपाईयों ने जमकर हंगामा किया। भाजपाईयों के हंगामा करने पर सीएचसी कर्मियों ने सीएचसी के गेट को बंद करते हुए काम बंद कर दिया। जानकारी मिलने पर पंहुचे क्षेत्रीय विधायक ब्रिजेश सिंह व आला अधिकारियों की मौजूदगी में मामले का समझौता हो गया। इस दौरान अस्पताल में अफरा तफरी मची रही।

सोमवार सुबह मरीजों द्वारा सीएचसी के जच्चा बच्चा वार्ड में पीने के पानी की टंकी में पानी न आने की शिकायत करने पर भाजपा नगराध्यक्ष विपिन गर्ग साथियों सहित अस्पताल पंहुचे और महिला चिकित्सालय प्रभारी से पानी की लाईन खराब होने पर विरोध जताया। महिला चिकित्सालय से लौटकर भाजपाई सीएचसी अधीक्षक के कार्यालय पंहुचे। चिकित्सा अधीक्षक के कम्पयूटर सेंटर में होने के चलते भाजपा नगराध्यक्ष ने सीएचसी अधीक्षक फोन मिलाया। बातचीत के दौरान दोनो में नोंक झोंक हो गई। नगराध्यक्ष का आरोप है कि सीएचसी अधीक्षक ने उन्हें शाम को आने को कहा प्रतिरोध करने पर उन्होंने मिलने से साफ इनकार कर दिया। सीएचसी अधीक्षक का कहना है कि नगराध्यक्ष द्वारा उनसे सभ्य लहजे में बात नही की गई। भाजपा नगराध्यक्ष के साथ विवाद होने की सूचना पर सीएचसी में काफी संख्या में भाजपाई इक_े हो गये। वहीं, दूसरी ओर स्वास्थ्य कर्मियों ने कार्य बंद करते हुए अस्पताल के ओपीडी गेट को बंद कर दिया। सीएचसी कर्मियों का आरोप था कि भाजपाईयों ने सीएचसी अधीक्षक के बारे में अपशब्द कहे है, जिसे बर्दाश्त नही किया जायेगा। अस्पताल में हंगामा होने की सूचना पर क्षेत्रीय विधायक ब्रिजेश सिंह, एसडीएम देवेंद्र पांडेय, कोतवाली प्रभारी यज्ञदत्त शर्मा भी मौके पर पंहुचे। विधायक ब्रिजेश सिंह व एसडीएम देवेंद्र पांडेय ने सीएचसी अधीक्षक डा. इंद्राज सिंह, नगराध्यक्ष विपिन गर्ग, महिला चिकित्सक डा. रियांका चौधरी के साथ सीएचसी अधीक्षक के कार्यालय में बातचीत के बाद दोनो पक्षों से जानकारी लेते हुए मामला निपटवाया। मामला निपटने के बाद चिकित्साकर्मी काम पर लौट आये। इस दौरान दीपक राज सिंघल, श्यामवीर त्यागी, अरूण गुप्ता, गजराज राणा, विपिन त्यागी, राजेश अनेजा, डा. सुखपाल सिंह, बिजेंद्र गुप्ता, आलोक खटीक, दीपक गर्ग, अभिषेक त्यागी, प्रमोद शाही, बालेंद्र सिंह, बलदीप सिंह, दीपक त्यागी,विकास, पंकज मौजूद रहे।

सोशल डिस्टेंसिंग बनी मजाक

भाजपाईयों ने हंगामे के दौरान कोरोना की परवाह किये बिना सोशल डिस्टेंसिंग का कोई ख्याल नही रखा। यह तब है जब एक भाजपा नेत्री कोरोना पॉजीटिव आ चुकी है। कुछ पदाधिकारी सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की अपील करते रहे लेकिन अधिकतर ने उनकी नही सुनी।

भाजपाईयों ने लांघी भाषा की मर्यादायें

भाजपाईयों का भाषा पर कोई कंट्रोल नही रहा। पत्रकारों के सामने भी भाजपाई चिकित्साकर्मियों के बारे में अपशब्द इस्तेमाल करते रहे। वही, कुछेक तो ऐसे थे जो विधायक के सामने भी अपनी भाषा पर नियंत्रण नही रख सके। अब सवाल यह उठता है कि एक और जहंा कोरोना काल में पूरे देश में चिकित्साकर्मियों को सम्मानित किया जा रहा है। वही भाजपा के कार्यकर्ता उनका अपशब्दो का प्रयोग कर अपमान कर रहे है। यह सोचने का विषय है?


Tags:    
Share it
Top