Top
Home > शहर > हरिद्वार > हरिद्वारः 32 लाख के माल गबन मामले में तीसरा गिरफ्तार

हरिद्वारः 32 लाख के माल गबन मामले में तीसरा गिरफ्तार

हरिद्वारः 32 लाख के माल गबन मामले में तीसरा गिरफ्तार

केएफसी कम्पनी के मालिक की तलाश जारी

हरिद्वार (दैनिक हाक): सिडकुल पुलिस ने 32 लाख के माल मामले में फरार चल रहे एक आरोपी को मुखबिर की सूचना पर गिरफ्रतार कर लिया है, जिसकी निशानदेही से पुलिस ने 46 बीम एल्युमिनियम की बरामद की है। पुलिस ने आरोपी का मेडिकल कराते हुए न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसको जेल भेज दिया गया है, जबकि एक और आरोपी कम्पनी से फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्रतार कर जेल भेज चुकी है।

बताते चले कि 25 सितम्बर को बीएसएल स्काफोल्डिंग कम्पनी सिडकुल प्लांट हैड तमाल साहा पुत्र स्व- मदन मोहन ने तहरीर देते हुए शिकायत की थी कि 15 सितम्बर को उनकी कम्पनी से एक ट्रक 13 टन एल्यूमिनियम माल लेकर पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हुआ था। जिसकी कीमत करीब 32 लाख रूपये है। लेकिन ट्रक चालक कई दिन बीत जाने के बाद भी माल लेकर भेजे गये स्थल पर नहीं पहुंचा है। प्लांट हैड ने ट्रक चालक, मालिक और ट्रांसपोर्टर गबन का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी। इसी दौरान सिड़कुल पुलिस ने 28 सितम्बर को मुखबिर पर डैंसो चौक पर आरोप ट्रक चालक बबलू पुत्र मुश्ताक निवासी मौ- मुरादनगर गाजियाबाद यूपी हाल ग्राम दादूपुर गोविन्दपुर रानीपुर और उसके साथी वसीम पुत्र नसीम निवासी मौ- पठानपुरा मंगलौर हरिद्वार को गिरफ्रतार किया था। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने खुलासा किया था कि उसका एक साथी शहजाद पुत्र अख्तर निवासी सलेमपुर रानीपुर हरिद्वार से वर्षो पुरानी जान पहचान है। उसी के कहने पर ही उन तीनों ने यह माल सिडकुल स्थित केएफसी कम्पनी के मालिक आशीष पुत्र विनोद निवासी दिल्ली को माल 15 लाख रूपये में बेचा था। इसमें से कुछ माल शहजाद ने बेचने के लिए अपने पास रख लिया था। आशीष के कहने पर उनके पिता विनोद ने 09 लाख रूपये नगद शहजाद को दिये थे, जिसमें से शहजाद ने उन दोनों को 10-10 हजार रूपये दिये थे, बाकी के पैसे कम्पनी से बकाया मिलने के बाद आपस में बांट लेने की बात कही थी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही से केएफसी कम्पनी में छापा मारकर 07 टन माल बरामद किया है, जिसकी कीमत करीब 18 लाख बतायी जा रही है। लेकिन कम्पनी का मालिक आशीष कम्पनी नहीं मिला, जानकारी पर पता चला कि वह किसी काम के सिलसिले में दिल्ली गये है। जबकि केएफसी कम्पनी कर्मियों ने बताया कि ओर माल गलाया जा चुका है। सिडकुल एसओ लखपत सिंह बुटोला ने बताया कि 16 अक्टूबर की सुबह फरार चल रहे आरोपी शहजाद पुत्र अख्तर निवासी सलेमपुर रानीपुर को गिरफ्रतार कर लिया, जिसकी निशानदेही से पुलिस ने आईपी-2 कम्पनी के पास झाडियों से 46 बीम एल्युमिनियम की बरामद की है। पुलिस ने आरोपी का मेडिकल कराते हुए न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसको जेल भेज दिया गया है। पुलिस फरार कम्पनी मालिक अशीष की तलाश में जुटी है।

Updated : 16 Oct 2020 11:20 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top