Home > शहर > हरिद्वार > पार्षदों को डरा धमका कर भाजपा में शामिल कर रहे हैं मंत्री मदन कौशिकः मेयर अनिता शर्मा

पार्षदों को डरा धमका कर भाजपा में शामिल कर रहे हैं मंत्री मदन कौशिकः मेयर अनिता शर्मा

पार्षदों को डरा धमका कर भाजपा में शामिल कर रहे हैं मंत्री मदन कौशिकः मेयर अनिता शर्मा

-मेयर पति ने सिर मुण्डवाकर जताया विरोध

हरिद्वारः नगर निगम हरिद्वार के एक के बाद एक पार्षदों के भाजपा में चले जाने के मामले को लेकर मेयर अनिता शर्मा ने सीधे सीधे शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर आरोप लगाया कि गैर भाजपा पार्षदों को डरा धमका कर उनको भाजपा में शामिल करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। अगर उनकी बात नहीं मानी जाती तो मंत्री द्वारा सत्ता का दुरूपयोग करते हुए उनको परेशान कर भाजपा में शामिल होने के लिए मजबूर किया जा रहा है। सत्ता के नशे में मदहोश होकर शहरी विकास मंत्री जनादेश को अपमानित कर रहे है। शहरी विकास मंत्री एक महिला से घबरा गये है।

नगर निगम मेयर अनिता शर्मा आज प्रेस क्लब हरिद्वार में पत्रकारों से रूबरू हो रही थी। उन्होंने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर सवाल दागकर पूछा हैं कि 17 सालों में विधायक मदन कौशिक ने शहर को क्या दिया है? शहर के जिला अस्पताल का बुरा हाल है। जहां पर चिकित्सकों की कमी को पूरा नहीं किया जा सका है। इतना ही नहीं वहां पहुंचने वाले मरीजों को ढंग से उपचार नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा शहर की सड़क का बुरा हाल हैं कि उनपर चलना भी दुर्भर हो रहा है, अपने जिम्मेदारियों को छोड कर दूसरे की जिम्मेदारियों पर उंगली उठाई जा रही है। उन्हाेंने कहा कि सच्चाई तो यही हैं कि मंत्री जी एक महिला मेयर से घबरा गये है। और उनके कार्यो में हस्तक्षेप करते हुए निगम के अधिकारियों पर उनको सहयोग न करने का दबाब डाला जा रहा है। जिन्होंने मंत्री जी को चेताया कि मंत्री जी सुधर जाओं वरना एक नारी ने पूरी लंका में आग लगाई थी, उसी तरह यह नारी भी तुम्हारी लंका में आग लगायेगी। शहर की जनता ने उनको जो प्यार और आशीर्वाद दिया है। उनकी अपेक्षाओं पर पूरी तरह से खरा उतरने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि मौजूदा वक्त में नगर निगम में अच्छे अधिकारी हैं जोकि उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर शहर हित में काम करने के लिए तैयार हैं मगर उनपर मेयर को सहयोग न देने का लगातार दबाब डाला जा रहा है। जोकि अपनी मजबूरी को अपने तरिके वक्त कर चुके है। इतना ही नहीं सती घाट के पास पार्किग को लेकर वह खुद मंत्री मदन कौशिक से मिल चुकी है। और पूरे दस्तावेज समाने रख कर भूमि नगर निगम की होने की बात कहते हुए उसको खाली कराने में सहयोग देने की भी अपील की जा चुकी है। मगर मंत्री जी निगम की भूमि पर कब्जा जमाये बैठे लोगों की तरफदारी करते हुए उनको गरीब बताते हुए काम करने देने की वकालत की गयी।

मेयर अनिता शर्मा ने आरोप लगाया कि शिवलोक कॉलोनी की पार्षद निशा नौडियाल को भाजपा में आने का निमंत्रण दिया था। लेकिन निशा ने उनको निमंत्रण ठुकरा दिया तो उनके खिलाफ राजनीतिक साजिश के तहत शराब काण्ड को लेकर जो बवाल हुआ उसमें पति-पत्नी सहित उसके परिवार के अन्य सदस्यों को भी घेर कर उनके खिलाफ जो मुकदमें दर्ज कराये गये। जब उनसे भी निशा नौडियाल विचलित नहीं हुुई तो मंत्री जी ने रूड़की हरिद्वार विकास प्राधिकारण के अधिकारियों पर दबाब बनाकर उनकी दुकानों को उखाड फैैंकने की साजिश रच डाली। निशा नौडियाल मंत्री जी के इस प्रपंच से परेशान होकर मजबूर होकर भाजपा का दामन थामा। इसी तरह अन्य पार्षद जोेकि भाजपा में पहुंचे हैं वह भी खुशी से नहीं बल्कि मंत्री जी की राजनीतिक साजिश की चाल में फंसकर उन्हाेंने दबाब में भाजपा का दामन थामा है। उन्हाेंने कहा कि मंत्री जी पार्षदों को डरा धमका कर तोड़कर भाजपा में शामिल करने से शहर की जनता को क्या सदेश देना चाहते है। जबकि शहर की जनता सब जानती है। जिसका जबाब शहर की जनता 2022 के चुनाव में देकर भाजपा को सबक सिखायेगी। प्रेसवार्ता के दौरान मेयर पति अशोक शर्मा, पार्षद अनुज सिंह, संतोष चौहान, विमला पाण्डे, बीना कपूर, अरविन्द शर्मा, डॉ- संजय पालीवाल, मुरली मनोहर, जगत सिंह रावत आदि मौजूद थे।

Tags:    
Share it
Top