Home > शहर > हरिद्वार > रात के अंधेरे में खनन का खेल चरम पर

रात के अंधेरे में खनन का खेल चरम पर

रात के अंधेरे में खनन का खेल चरम पर

-शासन प्रशासन सोया कुंभकरणी नींद

बहादराबादः औद्योगिक क्षेत्र के गांव सलेमपुर में परमिशन की आड में जमकर अवैध मिट्टी उठाई जा रही है। पिछले 1 सप्ताह से जारी परमिशन में राजस्व विभाग को लाखों रुपए का चूना लगा चुका परमिशन धारक परमिशन से कई गुना ज्यादा मिट्टी उठा चुका है। इस सम्बन्ध में जब हमने राजस्व अधिकारी को फोन करने का प्रयास किया तो संतोष जनक उत्तर देने के बजाय उन्होंने फोन तक नहीं उठाया।

उल्लेखनीय है कि सलेमपुर क्षेत्र में उबड़ खाबड़ मिट्टी को समतल करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा परमिशन दी जाती है। परमिशन की आड़ में जमकर मिट्टी का अवैध उठान किया जाता है। लगातार 15 से 20 दिन तक उठाए जाने वाली मिट्टी की जांच करने के लिये अधिकारी भी नहीं पहुंचते हैं, इसका फायदा उठाकर मिट्टी के ठेकेदार वारे न्यारे कर लेता है और राजस्व को भारी मात्रा में हानि पहुंचती है। उप जिला अधिकारी कुसुम चैहान ने बताया कि अधीनस्थ कर्मचारियों को मौके पर भेजकर जांच करायी जायेगी, यदि जांच में मिट्टी परमिशन से अधिक उठाई मिली तो संबंधित ठेकेदार और खेत मालिक पर जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन कुंभकरणी नींद में सोया आखिर कहां गये वो अधिकारी जो अवैध खनन को बंद करने का दावा करते हैं। ओधोगिक क्षेत्र के रोशनाबाद सलेमपुर में रात का अंधेरा होते ही खनन माफियाओं के खेल शुरू हो जाता है जबकि शासन प्रशासन खनन बन्द करने का दावा करता है लेकिन सभी दावे हवा हवाई होते दिखाई दे रहे हैं। जहां प्रशासनिक अधिकारियों का गढ़ है वही खनन माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद है कि रात का अंधेरा होते ही नदियों का सीना चीरकर सैंकड़ो टैªक्टर-ट्रॉलियां भर भर कर बेची जाती हैं।


Tags:    
Share it
Top