Home > व्यापार > प्याज के बाद अब टमाटर हुआ लाल, एक हफ्ते में 70 फीसदी बढ़ी कीमत

प्याज के बाद अब टमाटर हुआ लाल, एक हफ्ते में 70 फीसदी बढ़ी कीमत

प्याज के बाद अब टमाटर हुआ लाल, एक हफ्ते में 70 फीसदी बढ़ी कीमत

नई दिल्ली: बरसात के कारण कीमतों में वृद्धि से पहले प्याज ने देश के आम उपभोक्ता को रुलाया और अब टमाटर की सुर्खी लोगों को परेशान कर रही है। देश की राजधानी दिल्ली में बीते एक सप्ताह में टमाटर के दामों में 70 फीसदी का इजाफा हुआ है। टमाटर के लाल होने से इस त्योहारी सीजन में लोग परेशान हैं। महाराष्ट्र और कर्नाटक समेत दक्षिण भारत के राज्यों में हुई भारी बारिश के कारण प्याज की आपूर्ति बाधित होने के कारण इसकी कीमतों में बीते दिनों भारी इजाफा हुआ है, अब इसका असर टमाटर पर भी दिखने लगा है। प्याज फिलहाल देश भर में 60 से 80 रुपए के किलो के बीच बिक रहा है। वहीं टमाटर भी अब आगे बढ़ता हुआ 40 से 60 रुपए के बीच बिकने लगा है।

दिल्ली-एनसीआर में टमाटर बीते कुछ दिनों से खुदरा में 40-60 रुपए बिकने लगा है और आने वाले दिनों में कीमत में और इजाफा होने की संभावना है। दिल्ली ही नहीं, पूरे देश में टमाटर की कीमतों में भारी वृद्धि हुई है। केंद्रीय उपभोक्ता मामले विभाग की वेबसाइट के अनुसार, चंडीगढ़ में बुधवार को प्याज का भाव 52 रुपए प्रति किलोग्राम था। दिल्ली की आजादपुर मंडी में गुरुवार को औसत से अच्छी किस्म के टमाटर का 25 किलो का पैकेट 800 रुपए से ऊपर के भाव बिक रहा था। वहीं, औसत से नीचे वेरायटी का टमाटर 500 रुपए प्रति पैकेट था।

आजाद कृषि उत्पादन मार्केट कमिटी (एपीएमसी) की कीमत सूची के अनुसार, एक दिन पहले बुधवार को टमाटर का थोक भाव आठ रुपए से लेकर 34 रुपए प्रति किलो था और आवक 560.3 टन थी, जबकि एक सप्ताह पहले 19 सितंबर को दिल्ली में एपीएमसी के रेट के अनुसार, टमाटर का थोक भाव 4।50-20 रुपए प्रति किलो था, जबकि आवक 1,700 टन थी। कारोबारियों के अनुसार टमाटर की कीमतों में यह उतार चढ़ाव अभी 15 दिन तक रहने के आसार हैं। बरसात की वजह से पुरानी फसल चौपट हो गई। साथ ही नई फसल की बुवाई भी रुक गई है। प्याज और टमाटर के अलावा लहसुन की कीमत दो सौ रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है। इनमें राजस्थान से आने वाला लहसुन महंगा है।


Tags:    
Share it
Top